Admission Open 2020-21

Remaining Seats

Class 5th    – 30   Filled Seats 0, Remaining 30

Class 6th    -35,    Filled Seats 05, Remaining 30

Class 7th    -35,    Filled Seats  28, Remaining 07

Class 8th    -35,    Filled Seats  31, Remaining 04

Class 9th    -80,    Filled Seats  48, Remaining 32

Class 10th  -80,    Closed

Class 11th  Math+Biology  -45,   Filled Seats 35, Remaining 10

Class 11th Agriculture        -45,    Filled Seats 33, Remaining 12

Class 12th -90,  Closed.

सरस्वती विद्या मंदिर विद्यापीठ, शिवपुरी

सरस्वती शिशु मंदिर विद्यालय की वेबसाइट में स्वागत है ।

हम आशा करते है कि आप अपनी इच्छित सारी सूचनाएं इससे पा सकेंगे और यह कि यह वेबसाइट हमारे विद्यालय के बारे में एक अंतर्ज्ञान प्रदान करेगा । हम सरस्वती शिशु मंदिर के रूप में श्रेष्ठता की प्रतिबद्धता सहित स्तरीय शिक्षा के क्षेत्र में विस्तृत हित रखते हैं ।

सरस्वती शिशु मंदिर विद्यालय वस्तुतः एक खोज का स्थान है । हमारा लक्ष्य सारे बालकों के प्रतिभाओं के विकास उनकी क्षमता तक पहुँचने और हमारे साथ उनके बिताए समय को खुशहाल बनाना है । हम उच्चतम गुणवत्ता वाले अधिगम को विद्यालय में प्रदान करने हेतु लगातार परिश्रम करते हैं । एक शिक्षण विद्यालय के रूप में हम समानता शिक्षणात्मक विद्यालय संगठन के माध्यम से प्रशिक्षण और सहारा प्रदान करने में सौभाग्यशाली हैं ।

साल दर साल विद्यालय ने साक्षरता और बुनियादी अंक ज्ञान के क्षेत्र में उपलब्धियों के उच्च स्तर को अर्जित किया है । पठन, लेखन और गणित के क्षेत्र में राष्ट्रीय अपेक्षाओं पर खरा उतरकर बालक विद्यालय छोड़ते हैं । हमारे क्रियाकलाप अनुभवों और अवसरों के एक विस्तृत क्षेत्र को प्रदान करते हुए उत्कृष्ट हैं । बालक विषयक प्रकरणों के माध्यम से उनकी साक्षरता, बुनियादी अंकज्ञान और आई0सी0टी0 कौशलों का अनुप्रयोग सीखते हैं ।

हमारे पास भवन स्थल पर शिक्षित विशेषज्ञ हैं जो पूरे विद्यालय में उच्च श्रेणी की शारीरिक शिक्षा (पी0ई0) का अध्यापन करते हैं । हमारी विद्यालय पश्चात गतिविधियाँ भी शारीरिक और रचनात्मक अनुभवों के एक विस्तृत क्षेत्र को प्रदान करती हैं ।

विद्या भारती

बालक ही हमारी आशाओं का केंद्र है. वही हमारे देश, धर्म एवं संस्कृति का रक्षक है. उसके व्यक्तित्व के विकास मं  हमारी संस्कृति एवं सभ्यता का विकास निहित है. आज का बालक ही कल का कर्णधार है. बालक का नाता भूमि एवं पूर्वजों से जोड़ना, यह शिक्षा का सीधा, सरल तथा सुस्पस्ट लक्ष्य है. शिक्षा और संस्कार द्वारा हमें बालक का सर्वांगीण विकास करना है.

शिक्षा

“शिक्षा का व्यापक अर्थ सा विद्या या विमुक्तये ”

अनुभव

“शिक्षा एक व्यापक अवधारणा है, जो छात्रों में कुछ सीख सकने के सभी अनुभवों का हवाला देते हुए”

शिक्षण

“प्रशिक्षण विशिष्ट ज्ञान, कौशल, या क्षमताओं की सीख के साथ शिक्षार्थियों को तैयार करने की दृष्टि से संदर्भित है, जो कि तुरंत पूरा करने पर लागू किया जा सकता है”

प्रवेश हेतु संपर्क

सरस्वती विद्यापीठ आवासीय विद्यालय में कक्षा 5 से 12 तक की पूर्ण सुविधाओं से युक्त आवासीय व्यवस्थाऐं संचालित है. प्रवेश हेतु संपर्क करें..


Call to Action