बसंत पंचमी पर सरस्वती शिशु मंदिर गणेश कॉलोनी में शिशुओं का विद्यारंभ संस्कार

शिवपुरी – विद्याभारती मध्यभारत प्रान्त की योजनान्तर्गत सरस्वती शिशु मंदिर गणेश कॉलोनी (विद्यापीठ परिसर) में बसंत पंचमी के पावन पर्व पर विद्यारम्भ संस्कार पूर्ण वैदिक पद्धति के साथ किया गया इस दौरान विद्यालय में यज्ञ किया गया तथा 3 से 5 वर्ष के शिशुओं का विद्यारम्भ संस्कार किया गया ।
इस अवसर पर सरस्वती विद्यापीठ आवासीय विद्यालय के प्रबंधक श्री ज्ञानसिंह कौरव ने उपस्थित अभिभावकों को सम्बोधित करते हुए विद्यारम्भ संस्कार के महत्व को बताते हुए कहा कि भारतीय जीवन दर्शन में मनुष्य की जीवन यात्रा जन्म से लेकर मृत्यु पर्यन्त चलती है । इस यात्रा में मनुष्य को अनेक परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है । जीवन की इन बदलती परिस्थितियों में जीवन निर्वाह के लिए ऋषि-मुनियों ने कुछ विधि-विधान बताए हैं जिनका पालन करने से जीवन सुखमय बनता है शास्त्रों में इन नियमों को संस्कार नाम दिया गया है मनुष्य जीवन में में ऐसे सोलह संस्कार होते हैं उनमें से एक है ‘विद्यारम्भ संस्कार’ । हिन्दू धर्म के अनुसार विद्यारम्भ संस्कार अति आवश्यक माना गया है ।
इस अवसर पर यज्ञ के यजमान के रूप में नव अभिभावक रहे ।
इसी सनातन परंपरा का निर्वहन करने के लिए सरस्वती शिशु मंदिर गणेश कॉलोनी (विद्यापीठ परिसर) में यह आयोजन किया गया है ।
कार्यक्रम के अंत में विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती श्वेता श्रीवास्तव द्वारा आभार व्यक्त किया गया ।
इस अवसर पर विद्यालय के श्री पवन शर्मा सहित विद्यालय स्टाफ , भैया बहिन, अभिभावक एवं नगर के गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *